NEET 2022 Exam Date Registration का इंतजार कर रहे छात्रों के लिए अच्छी खबर, 2 अप्रैल से शुरू पंजीकरण यहाँ देखे सबसे पहले

NEET 2022 Exam Date Registration का इंतजार कर रहे छात्रों के लिए अच्छी खबर, 2 अप्रैल से शुरू पंजीकरण यहाँ देखे सबसे पहले

NEET 2022 Exam Date 2022: एनईईटी पंजीकरण 2 अप्रैल से शुरू होने की संभावना है। राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी जल्द ही आधिकारिक अधिसूचना जारी करेगी। यहाँ से चेक करे

मेडिकल के क्षेत्र में जाने के लिए तैयारी कर रहे छात्रों के लिए अच्छी खबर है।

NEET Exam Date 2022: नीट परीक्षा की तारीख जल्द घोषित होने वाली है। नीट 2022 परीक्षा जुलाई में होने की संभावना है। कई मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस साल 17 जुलाई को नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) प्रस्तावित है। राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा NEET 2022 के लिए पंजीकरण 2 अप्रैल से शुरू होने की संभावना है। हालांकि, इस बारे में कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है। परीक्षा के लिए आवेदन करने के इच्छुक छात्रों को सलाह दी जाती है कि वे अधिक अपडेट और परीक्षा संबंधी जानकारी के लिए आधिकारिक वेबसाइट यानी nta.ac.in पर कड़ी नजर रखें।

NEET 2022 Exam Date Registration Details,

  • रिपोर्टों के अनुसार, पंजीकरण 7 मई तक खुला रहेगा और पांच दिनों की समयावधि की सुधार खिड़की मई के मध्य में खोली जाएगी।
  • NEET-UG 2022 परीक्षा देश भर में 13 भाषाओं में पेन और पेपर मोड में आयोजित की जाएगी।
  • इनमें अंग्रेजी, हिंदी और उर्दू शामिल हैं – जिन्हें पूरे भारत में उपलब्ध कराया जाएगा।
  • तैयारी करने वाले छात्रों के लिए यह महत्वपूर्ण है कि एनएमसी ने नीट 2022 परीक्षा से ऊपरी आयु सीमा को हटा दिया है।
  • 31 दिसंबर, 2022 तक 17 वर्ष की आयु पूरी करने वाले या पूर्ण करने वाले छात्र परीक्षा में बैठने के पात्र होंगे।

NEET 2022 exam 13 भाषाओं में आयोजन होना हे

पिछले साल की तरह इस साल भी नीट की परीक्षा 13 भाषाओं में होनी है। इनमें अंग्रेजी, हिंदी, उर्दू, असमिया, बंगाली, गुजराती, कन्नड़, मराठी, मलयालम, उड़िया, पंजाबी, तमिल और तेलुगु शामिल हैं।

NEET exam 2022 के लिए अधिकतम आयु सीमा नहीं होगी

उम्मीदवारों को ध्यान देना चाहिए कि इससे पहले एनएमसी ने नीट 2022 परीक्षा से ऊपरी आयु सीमा को हटा दिया था। इसके अनुसार 31 दिसंबर, 2022 तक 17 वर्ष की आयु पूरी करने वाले या पूर्ण करने वाले सभी छात्र परीक्षा में बैठने के पात्र होंगे। ऐसे में उम्मीद है कि इस साल होने वाली राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा (यूजी) में अभ्यर्थियों की संख्या पहले की तुलना में बढ़ सकती है.